Love Stories In Hindi

Love Story

Love Stories In Hindi

Love Stories In Hindi

There are some Love Stories In Hindi

This is the love story of Raju Soni and Nisha Soni….

ये  नवंबर-दिसंबर की बात है। आकाश साफ़ था हल्की धूप निकल चुकी थी। हम अपने दोस्तों के साथ कॉलेज परिसर में ही बैठकर धूप का लुत्फ उठा रहे थे आज हम सभी दोस्त यहां वहां की बातें कर रहे थे तभी मेरी ध्यान कॉलेज के मेन गेट के पास गया ।
                     हल्के नीले रंग की स्वेटर, पीली सलवार सूट और अपने रेशमी बालों को मोड़कर आगे की तरफ  कर के एक लड़की अंदर की ओर कोई आ रही थी।

Love Stories In Hindi

  उसके चेहरे पर पड़ती हल्की धूप और उसके माथे की लाल बिंदी गजब की खिल रही थी। जब वह  मेरे नजदीक आई तो मेरी आंखें खुली की खुली रह गई।
 अरे! यह तो निशा है ।
 उसका नाम मेरे मुंह से अचानक निकल गया। मैंने निशा को कई बार प्रपोज कर चुका था लेकिन उसका अब तक कोई भी जवाब नहीं मिला था । वह ना तो कभी इंकार की थी और नहीं कभी हामी भरी थी।
   बस वह सिर्फ मुस्कुरा कर टाल देती थी । यही कारण था कि मेरे  दोस्त मुझे हमेशा कहा करते थे कि  निशा भी तुम्हें प्यार करती है तभी तो वह तुम्हें इंकार नहीं करती है ।

सुनो कभी तुम नाराज हूए तो हम झुक जाएंगे,
कभी हम नाराज हो तो आप गले लगा देना.

(Love Stories In Hindi)

 आज उसे इतनी सजी -सबरी देखकर मैंने भी ठान लिया था कि आज उससे जवाब लेकर ही रहूंगा।

 अब हम लोग क्लास में जा चुके थे लेकिन जैसे ही ब्रेक में  मौका मिला मैंने उससे पूछ ही लिया ” निशा!  मैं तुमसे एक बात पूछना चाहता हूं “
”  पूछो ”  निशा ने कहा-
 मैं अपनी आवाजों को दबाते हुए बोल ही रहा था कि उसने मेरी बातों को काटते हुए बोली ”  ठीक है !आज तुम कुछ नहीं कहोगे मैं ही बोलूंगी “
 यह सुन कर तो मेरी धड़कन जोर-जोर से धड़कने लगी । पूरे शरीर में बिजली सी चमक  गई।  पर उसने  जो कहा वह सुनकर मेरी खुशी का ठिकाना नहीं था। आज तो मेरी जिंदगी का सबसे हसीन पल था,  जिसका इंतजार मैं बरसों से कर रहा था वह आज सुनने को मिल ही गया। 
 वह मेरे प्यार को कबूल कर चुकी थी और देखते ही देखते कुछ समय में हम दोनों एक दूसरे के गले से लिपट गए। सदियों से बंजर जमीन पर आज पहली बार प्यार की गुलाब खिल रहा था। सभी दिशाएं मोहब्बत की इस रंग में विभोर हो चुकी थी।
 अब हम लैला मजनू की तरह पूरे कॉलेज में फेमस हो चुके थे हमारे सभी दोस्त उसे  भाभी कहकर बुलाने लगे थे। इसके बाद हम दोनों कई बार साथ में घूमे मस्ती किए,  कभी इस पार्क में तो कभी उस पार्क में  ।अपनी बाइक पर लेकर उसे  जब पटना की सड़कों पर निकलते थे तो सारी लोगों की नज़र हम दोनों पर टिके रहती थीं  । लेकिन एक समय ऐसा भी आया जब हमारा कॉलेज खत्म होने को आ रहा था। हम दोनों को अलग होने का डर खाए जा रहा था दिमाग में अलग-अलग  ,गजब – गजब के ख्याल आ रहे थे ।

Love Stories In Hindi

           कभी सोचते हम दोनों शादी कर ले तो कभी हमें अपने परिवार के फैसले का डर सताने लगता ।
 जब हमारा कॉलेज खत्म हुआ तो हम दोनों अपने अपने शहर वापस आ गए लेकिन उसकी यादों ने यहां जीना मुश्किल कर रखा था।
     कई दिनों तक कुछ करने का मन नहीं कर रहा था बस यूं ही सोचता तो कभी उदासी में उसकी तस्वीरों को निहारता रहता था।

 मैं भाई-बहन में सबसे बड़ा था जिसके कारण पढ़ाई के बाद  जिम्मेदारियां बनती है कि मैं जल्द से जल्द जॉब कर लूं।

Hindi love status

Kuch logo se aisa rishta
Ban jaata hai
Ki phir har chiz se pahle

Unka hi khayal aata hai


 मैंने भी अपने फर्ज निभाने हेतु सब कुछ धीरे-धीरे भूलने की कोशिश करना शुरू कर दिया। इसी बीच मुझे एक अच्छे कंपनी की जॉब ऑफर हुई। इतने दिनों में निशा मुझे भूल गई होगी इस तरह का ख्याल मन में बहुत बार आया । लेकिन मैं यही सोचता था जब मैं उसे भूल नहीं पाया तो वह मुझे कैसे भूल गई होगी।
 दिल तो चाहता था सब कुछ भूल कर उसके पास चले  जाऊँ  लेकिन जिम्मेदारियां मुझे मजबूती से जकड़ी हुई थी।
 मैं आधे मन से जॉब के लिए इंटरव्यू देने चला गया। मुझे इस जॉब में कोई इंटरेस्ट नहीं था मगर फिर भी उस जॉब के लिए चला गया। जैसे नदियों का पानी बिना सोचे समझे समुद्र की तरफ चला जाता है ठीक मैं भी उसी तरह बिना सोचे समझे चला जा रहा था।
 अब मैं इंटरव्यू के लिए ऑफिस पहुंच चुका था । ऑफिस में कई सारे लोग इंटरव्यू के लिए बैठे थे। मैं भी अपनी बारी का इंतजार करने लगा।मुझे वहां भी निशा की यादें खाई जा रही थी और एक अलग तरह की तनहाई मारी जा रही थी। जिस तरह सूरज के डूब जाने के बाद सूरजमुखी के फूल मुरझा जाते है ठीक मेरा वैसा ही हाल निशा के जाने के बाद मेरा हो चुका था। बैठा तो था लोगों के साथ लेकिन फिर भी यहां भी मैं अकेला महसूस कर रहा था।

 कुछ समय बाद मेरी भी बारी आ चुकी थी
”  सर!  इंटरव्यू के लिए आपको अंदर बुलाया जा रहा है”  उस कंपनी के एक कर्मचारी ने मेरे पास आकर बोला ।

Heer Ranjha Shayri

इश्क कोई घाव नही जो भर जाएगा,रिवाज़ है साहब,
हीर के बगैर रांझा मर जायेगा…

(Love Stories In Hindi)

”  ओके ” कहकर मैं ऑफिस के दरवाजे को हल्के से धक्का देकर अंदर गया ।
 बड़ी – बड़ी आंखें,  रौदार चेहरा,  चेहरे पर कड़क सवाल  और वाले हल्के सफेद एक व्यक्ति कुर्सी पर बैठा था।
  उन्होंने मुझे बैठने का इशारा किया इसके बाद उन्होंने पूछा  “नाम क्या है ?”
 “जी , राजू सोनी ” मैंने कहा।
 इसके बाद उन्होंने कई सवाल पूछा जिसका जवाब मैे पूरे कॉन्फिडेंस के साथ देता  गया ।
 उन्होंने कुछ अजीब तरह के सवाल भी पूछे जैसे -तुम्हारे पिताजी क्या करते हैं ? तुम कितने भाई बहन हो ? इन सवालों के अलावा और भी कई सवाल पूछे पर मैंने सभी प्रश्न का जवाब  बिल्कुल सही सही देता है  गया ।

”  क्या किसी से प्यार करते हो ? ” उनका यह प्रश्न सुनकर मैं स्तब्ध रह गया ।

सामने बैठे रहो दिल❤ को करार आएगा..
जितना देखेंगे तुम्हें उतना ही प्यार आएगा..

(Love Stories In Hindi)

 भला जॉब के लिए इस तरह का प्रश्न कौन पूछता है ! मैंने इस प्रश्न का जवाब खामोश रहकर ही देना उचित समझा । इस प्रश्न को सुनकर ऐसा लग रहा था यह जॉब इंटरव्यू कम और मैरिज इंटरव्यू ज्यादा लग रहा था।
”  तुम मुझे अच्छे लगे  ” उन्होंने कहा।
 अपने दाएं हाथ से रिंग बेल का बटन दबाकर किसी को बुलाया ।
”  इन्हें लेकर मैडम के केबिन में जाओ ” उन्होंने आदमी को आने के बाद कहा । मैं उस आदमी के साथ दूसरे केबिन की तरफ चला गया ।
 मन मचल रहा था ” नौकरी मिलेगी या ऐसे ही वापस लौटना पड़ेगा! “
Love Stories In Hindi

 अगर नौकरी मिल जाएगी तो अच्छी  वरना …….। मैं जब  दूसरे केबिन के अंदर गया  तभी मुझे आवाज सुनाई पड़ी ” साहब !  बोलो कितना सैलरी लोगे ? “
 जब मैंने किसी को कुर्सी पर बैठे देखा तो मेरी आंखें खुली की खुली रह गई पूरे शरीर में बिजली सी दौड़ गई।
 चेहरे पर हल्की मुस्कान लिए वहां पर निशा बैठी थी । मैं तो निशा को देखकर हक्का-बक्का सा देखता रह गया तभी वह मुझे बोली ”  क्यों साहब चौक गए ? “

 मैंने कहा ” निशा ! तुम ?”

 तुम्हें क्या लगता था हम तुम्हें भूल गए ? मैं भी तुम्हें उतना ही मिस करती थी  जितना कि तुम करते थे ।
 फिर हम दोनों ने एक दूसरे को गले लगा लिया। कुछ पल तक तो कहीं हम एक अलग सी दुनिया में खो गए ।

Love Stories In Hindi

 Love Stories In Hindi

ऐसा लग रहा था किसी दिवालिया हुए इंसान को उसकी पूरी संपत्ति फिर से वापस मिल गई हो।
 निशा ने बताया कंपनी उसके पापा की ही है और  निशा ने खुद बोलकर ही मेरी नौकरी के लिए ऑफर दिलवाई थी।
 क्योंकि मेरे बारे में निशा अपने पापा से बात कर चुकी थी और उसके पापा  मुझसे मिलना चाहते थे।
 अब तो हम दोनों मिल चुके थे उसके बाद हम दोनों की शादी हमारे परिवार की रजामंदी से हो गयी।
 जन्मो जन्म तक साथ निभाने का वचन देकर आज हम दोनों साथ है।

      मैं बहुत खुश हूं कि मुझे मेरा पहला प्यार मिल गया और भगवान से प्रार्थना करता हूं मुझे अगले जन्म में भी इतना ही प्यार करने वाली निशा ही मिले ।

Love Stories In Hindi

Love Stories In Hindi


”  ना चाहत है मुझे इन सितारों की,  ना  चाहत है इन बहारों की।
 तू हमेशा मेरे साथ रहे यही चाहत है तेरे  दीवाने की।

Love Story by Adarsh Tiwari

यदि आपको ये कहानी अच्छी लगी हो तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं..

2 thoughts on “Love Stories In Hindi”

Leave a Comment

%d bloggers like this: